Friday, 11 August 2017

About GPS (Global Positioning System) in Hindi

About GPS: Know in Hindi

GPS, gps track, gps location, gps tracking, gps algorithm, About GPS (Global Positioning System) in Hindi. gps, what is gps in hindi, how gps works, gps in hindi, how gps works in hindi, what is gps and how does it work in hindi, how gps works in car, global positioning system, gps navigation, hindi, how gps works in android, what is gps, in hindi, what is gps in mobile, gps satellites, what is gps system, gps satellite, gps location, science, gps network, assisted gps, gps working urdu, gps tracker, gps tracking, gps navigation device.

देखा जाए तो आज के समय में GPS का इस्तेमाल काफी आम बात हो गया है। एक समय था, जब GPS का इस्तेमाल सिर्फ सेना को सही लोकेशन की जानकारी देने के लिए इस्तेमाल किया जाता था। लेकिन आज के समय में GPS हर मोबाइल फोन में, लैपटॉप में और भी अन्य गैजेट्स में देखने को मिल जाते हैं।

जैसा की हम जानते हैं GPS सैटेलाइट के आधार पर काम करता है। GPS का पूरा नाम ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम है। यह एक सबसे विस्तृत नेविगेशन सिस्टम है। जो समय के साथ-साथ किसी भी व्यक्ति, वाहन या सामान का सही लोकेशन बताता है।

यहाँ पढ़े: इंटरनेट कैसे काम करता है?

शायद आप नहीं जानते GPS को सबसे पहले यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका के सेना विभाग ने बनाया था। फिर बाद में इस का इस्तेमाल आम लोगों के लिए उपलब्ध करा दिया गया। जीपीएस के जरिए आज के समय में आप आसानी से पूरे दिन का मौसम के बारे में जान सकते हैं।

GPS डिवाइस रिसीवर के साथ काम करता है। मतलब जो भी डाटा हमें सेटेलाइट से मिलता है। वह जीपीएस रिसीवर डिवाइस और सेटेलाइट मिल उसकी गणना करते है।

जरूर पढ़े: हमारे जीवन पर सोशल साइट्स का साइड इफेक्ट्स।

GPS काम कैसे करता है?

आपका जीपीएस डिवाइस 3 से 4 सैटेलाइट से लोकेशन की जानकारी लेता है। जिसकी accuracy 10 से 100 मीटर के रेंज में हो सकती है। आज के समय में एंड्राइड डेवलपर GPS का इस्तेमाल कई Android एप्लीकेशन में करते हैं। जैसा कि हमने देखा है अक्सर हम अपने मोबाइल फोन में कोई सॉफ्टवेयर ओपन करते हैं। तो वह एंड्राइड एप्लीकेशन लोकेशन ऑन करने के लिए कहता है। इसका मतलब यह है कि वह एप्लीकेशन चाहता है कि आप अपना करंट लोकेशन उसके साथ शेयर करें।

यहाँ पढ़े: About 1G, 2G, 3G, 4G and 5G Technology in Hindi

जीपीएस लोकेशन कैसे पता करता है?

किसी भी जगह का लोकेशन पता करने के लिए कम से कम तीन सैटेलाइट की आवश्यकता होती है। जो 2D दो डायमेंशनल पोजीशन पता करती है। लेकिन अगर वही आप 3D में जाना चाहते हैं यानि की लंबाई चौड़ाई के साथ-साथ ऊंचाई और गहराई भी देखना चाहते हैं। तो उसके लिए कम से कम चार सैटेलाइट की आवश्यकता होती है। एक बार यह सारी जानकारियां सैटेलाइट को पता हो जाती है। तो सैटेलाइट आपके जीपीएस रिसीवर से कँनेट हो जाता है। और अंय कई चीजों की गणना करना वह शुरू कर देता है। जैसे आपकी गति, दूरी, आप एक जगह से दूसरी जगह जाने में आपको कितना समय लगेगा, व सारी घटना जो आपके लिए काफी जरूरी होती है।

अवश्य पढ़े: भविष्य में होने वाले बदलाव (Facts About Future)

आशा करता हूं यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। अगर आपको GPS के बारे में जानकारी अच्छी लगे। तो कृपया इसको शेयर करिए। अगर आपके मन में किसी भी प्रकार का प्रश्न है। तो नीचे कमेंट बॉक्स में अपने question को लिखिए। धन्यवाद!


EmoticonEmoticon