Showing posts with label Internet Tricks and Tips in Hindi. Show all posts
Showing posts with label Internet Tricks and Tips in Hindi. Show all posts

Wednesday, 12 July 2017

अपने आधार कार्ड नंबर को Axis बैंक अकाउंट से कैसे लिंक करे?

अपने आधार कार्ड नंबर को Axis के बैंक अकाउंट से लिंक करे

अपने आधार कार्ड नंबर को Axis के बैंक अकाउंट से लिंक करे. How to link Aadhaar card number to Axis bank account in Hindi.

देखा जाए तो आज के समय में आधार कार्ड नंबर भारत में हर जगह इस्तेमाल किया जा रहा है। भारत सरकार के नियमानुसार सभी बैंक खाताधारकों को अपना अकाउंट नंबर आधार कार्ड से लिंक करना जरुरी हो गया है। यहाँ आप जानेंगे कि कैसे अपना आधार कार्ड नंबर अपने बैंक अकाउंट से लिंक कर सकते हैं।

Axis बैंक अकाउंट धारकों के लिए अपने बैंक अकाउंट को आधार कार्ड नंबर जोड़ने की ऑनलाइन विधि

ऐक्सिस बैंक के ग्राहक अपने आधार कार्ड से उनके एक्सिस बैंक खातों को सिर्फ अपने पंजीकृत मोबाइल नंबरों से एक एसएमएस भेजकर लिंक कर सकते हैं।
  • Aadhaar [Aadhaar number] AC [Bank Account Number]
  • Example: Aadhaar 123XXXXXX AC 321XXXXXXXX
  • अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से ये मैसेज लिख कर 5676782 पर भेजें।

ऑफलाइन विधि

अपने निकट Axis बैंक में आपको अपने बैंक अकाउंट शाखा का नाम और पता, अपना खाता संख्या, अपना पूरा नाम और पता जो आधार कार्ड पर मुद्रित और आपके आधार/यूआईडी नंबर को फॉर्म में लिख करके फॉर्म को बैंक में जमा करना होगा। आपको अपने आधार कार्ड की एक फोटोकॉपी को फॉर्म के साथ संलग्न करना न भूले। आवश्यक जानकारी दर्ज करने के बाद, आपको बैंक के एक प्रतिनिधि या आधिकारिक को आवेदन जमा कर दे। बैंक के कर्मचारी द्वारा वेरीफाई कर लिए जाने के बाद  आपका आधार कार्ड नंबर आपके बैंक खाता से जुड़ जाएगा।

अपने आधार कार्ड नंबर को SBI के बैंक अकाउंट से कैसे लिंक करे?

अपने आधार कार्ड नंबर को Axis के बैंक अकाउंट से लिंक करे

अपने आधार कार्ड नंबर को Axis के बैंक अकाउंट से लिंक करे. How to link Aadhaar card number to Axis bank account in Hindi.

देखा जाए तो आज के समय में आधार कार्ड नंबर भारत में हर जगह इस्तेमाल किया जा रहा है। भारत सरकार के नियमानुसार सभी बैंक खाताधारकों को अपना अकाउंट नंबर आधार कार्ड से लिंक करना जरुरी हो गया है। यहाँ आप जानेंगे कि कैसे अपना आधार कार्ड नंबर अपने बैंक अकाउंट से लिंक कर सकते हैं।

Axis बैंक अकाउंट धारकों के लिए अपने बैंक अकाउंट को आधार कार्ड नंबर जोड़ने की ऑनलाइन विधि

ऐक्सिस बैंक के ग्राहक अपने आधार कार्ड से उनके एक्सिस बैंक खातों को सिर्फ अपने पंजीकृत मोबाइल नंबरों से एक एसएमएस भेजकर लिंक कर सकते हैं।
  • Aadhaar [Aadhaar number] AC [Bank Account Number]
  • Example: Aadhaar 123XXXXXX AC 321XXXXXXXX
  • अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से ये मैसेज लिख कर 5676782 पर भेजें।

ऑफलाइन विधि

अपने निकट Axis बैंक में आपको अपने बैंक अकाउंट शाखा का नाम और पता, अपना खाता संख्या, अपना पूरा नाम और पता जो आधार कार्ड पर मुद्रित और आपके आधार/यूआईडी नंबर को फॉर्म में लिख करके फॉर्म को बैंक में जमा करना होगा। आपको अपने आधार कार्ड की एक फोटोकॉपी को फॉर्म के साथ संलग्न करना न भूले। आवश्यक जानकारी दर्ज करने के बाद, आपको बैंक के एक प्रतिनिधि या आधिकारिक को आवेदन जमा कर दे। बैंक के कर्मचारी द्वारा वेरीफाई कर लिए जाने के बाद  आपका आधार कार्ड नंबर आपके बैंक खाता से जुड़ जाएगा।

Thursday, 8 June 2017

व्हाट्सएप ऑनलाइन स्टोरेज ट्रिक (WhatsApp Trick)

व्हाट्सएप का उपयोग ऑनलाइन स्टोरेज के रूप में करे! (WhatsApp Trick)

मित्रों और परिवार के संपर्क में रहने के लिए व्हाट्सएप एक उपयोगी मोबाइल एप्लिकेशन है। यह सुपर-फास्ट भी है, लगभग सभी फोंस (डेस्कटॉप कंप्यूटर सहित) पर काम करता है। और फेसबुक कंपनी ने अभी तक WhatsApp उपयोगकर्ताओं को चार्ज करने के बारे में सोचा नहीं है।

व्हाट्सएप का उपयोग

आप मुख्य रूप से टेक्स्ट, मैसेजिंग और कॉलिंग के लिए व्हाट्सएप का उपयोग कर रहे हैं। लेकिन व्हाट्सएप के लिए कुछ अन्य रोचक उपयोग हैं। जो इस ऐप के उपयोगिता मूल्य को और भी बढ़ावा देगा। बाहरी दुनिया के साथ संचार के अलावा आप WhatsApp का उपयोग इन चीज़ो के लिए भी कर सकते है।
  • विचारों, नोट्स, आवाज मेमो, स्कैन किए गए दस्तावेज़ों को कैप्चर करके सेव कर सकते हैं और आप अपने निजी क्षेत्र में इसका उपयोग फाइल्स को भेजने तथा प्राप्त करने में इस्तेमाल कर सकते है।
  • किसी अन्य सेवा के लिए साइन-अप किए बिना अपने कंप्यूटर और फ़ोन के बीच वेब लिंक, दस्तावेज़, स्क्रीनशॉट और अन्य फ़ाइलों को भेज तथा प्राप्त कर सकते हैं।
  • तो बात यह कि कैसे व्हाट्सएप को ऑनलाइन फाइल स्टोरेज की तरह काम में कैसे लिया जाए। 

आप जानते है कि अपने खुद के नंबर पर WhatsApp संदेश भेजना संभव नहीं है, लेकिन इस समस्या को हल करने के लिए एक सरल हैकिंग उपाय है। सिर्फ एक प्रतिभागी के साथ एक नया व्हाट्सएप समूह बनाएँ -

आप ऐसा करे:

  • अपने फोन पर व्हाट्सएप में एक नया ग्रुप बनाएं।
  • इस ग्रुप से आपकी फ़ोन कॉन्टेक्ट्स से कोई भी एक कांटेक्ट नंबर जोड़ें। अपने ग्रुप को एक नाम दें और सेव करे।
  • ध्यान दे कि ग्रुप मेम्बर आपका दूसरा Whatsapp नंबर होना चाहिए। 
  • जिसका उपयोग आप नही करते है।
  • अब आप उस ग्रुप में कुछ भी भेज कर अपने फाइल्स को ऑनलाइन स्टोरेज की तरह इस्तेमाल कर सकते है।

बस। आपके पास अभी क्या व्हाट्सएप में एक निजी ऑनलाइन स्टोरेज है। जो कि आपको केवल दिखाई दे रहा है और वेब (डेस्कटॉप) और आपके मोबाइल फोन से उपयोग करने में योग्य है।

Sunday, 28 May 2017

ऑनलाइन बिज़नेस होने के क्या फायदे हैं?

Online business benefits and profits in hindi. ऑनलाइन बिज़नेस होने के क्या फायदे हैं? बिज़नेस को ऑनलाइन कैसे लाते है?

ऑनलाइन बिज़नेस होने के फायदे

नमस्कार! दोस्तों, मेरा नाम विशाल जायसवाल है। आज हम यहां बात करेंगे कि कैसे आप अपने बिजनेस को ऑनलाइन ला सकते हैं। जैसा कि हम जानते हैं कि आज के समय में हर बिजनेस ऑनलाइन आ रही है। इसका यह कारण है कि हम इंटरनेट का काफी ज्यादा इस्तेमाल कर रहे हैं। जब भी हमें किसी चीज की आवश्यकता होती है, तो हम इंटरनेट पर ही उन चीजों को खोजा करते हैं। इसलिए यह बहुत जरूरी है कि अगर हमारे पास किसी भी प्रकार का व्यापार है या हम किसी भी प्रकार का सामान बेचते हैं, तो उस चीज़ का पता तथा उसके बारे में इंटरनेट पर होना बहुत जरूरी है।

ऑनलाइन बिज़नेस होने के क्या फायदा है?

इंटरनेट पर हमारा बिज़नेस होने के कई फायदे हैं। जैसे अगर किसी क्षेत्र में आपका दुकान है, या फिर व्यापार है। तो उस क्षेत्र में अगर कोई व्यक्ति उस चीज को ढूंढता है। जबकि वह चीज आपके दुकान में उपलब्ध है और अन्य दुकानों में भी। तो आपका बिजनेस ऑनलाइन होने की वजह से उस व्यक्ति को यह पता लग जाएगा कि कि वह चीज आपके दुकान पर बिकती है और और वह आसानी से आपके दुकान तक पहुंच सकता है।

बिज़नेस को ऑनलाइन कैसे लाते है?

अगर आपको अपना बिजनेस ऑनलाइन लाना है। तो सबसे पहले आपकी एक वेबसाइट होना बहुत जरूरी है। उसके बाद आपका जो एड्रेस है। यानी जिस पते पर आप अपना बिजनेस कर रहे हैं। उस एड्रेस को गूगल मैप पर वेरीफाई करवाले अर्थात गूगल बिज़नस पेज पर वेरीफाई करवाने।

अगर आप इन बातों के निर्देश पर चलते हैं। तो आपका बिजनेस ऑनलाइन आ जाएगा। अगर आप अपने बिजनेस को ऑनलाइन प्रमोशन करना चाहते हैं। तो उसके भी कई उपाय हैं। वह कौन से उपाय है। मैं आगे इस वेबसाइट पर बताऊंगा। तब तक के लिए इतना ही। धन्यवाद!

Thursday, 11 May 2017

वेब होस्टिंग क्या है? इस पर वेबसाइट कैसे काम करता है?

About Web Hosting in Hindi. Web Hosting क्या होती है ?कैसे कार्य करती है?और यह कितने प्रकार की होती हैं | Learn what is web hosting in Hindi. Web Hosting Puri Jankari Hindi Me,What is Web Hosting in Hindi,Web hosting kya hai ?Web hosting In Hindi,Web hosting kya hota hai.

वेब होस्टिंग के बारें में पूरी जानकारी। (About Web Hosting in Hindi)

हेलो दोस्तों आज हम इस वेबसाइट पर बात करेंगे कि वह वेब होस्टिंग क्या होता है? और यह कैसे काम करता है? तो चली शुरू करते हैं। अगर बात करें वेब होस्टिंग की तो आप यह जान ले कि दुनिया भर में जितनी भी वेबसाइट है। सारे के सारे वेबसाइट सर्वर पर काम करते हैं। और वेब होस्टिंग उन सरवर का एक छोटा सा भाग है, जिस पर वेबसाइट  बनाने वाले अपनी वेबसाइट को अपलोड करते हैं। जिसे हम लोग वेब होस्टिंग कहते हैं।

डोमेन, वेब होस्टिंग और वेबसाइट

डोमेन, वेब होस्टिंग और वेबसाइट फाइल्स तीनों एक दूसरे से जुड़े होते हैं। किसी कारणवश अगर इन तीनो में से एक भी विफल हो जाता है।  तो वेबसाइट काम करना बंद कर देगा।

पूरी दुनिया में माने तो सबसे ज्यादा सर्वर USA यानी अमेरिका में स्थित है। आपको जानकर हैरानी होगी कि यूट्यूब, न्यूज़ वेबसाइट, मोबाइल एप से लेकर सभी वेबसाइट वेब होस्टिंग पर काम करती हैं।

वेब होस्टिंग के प्रकार

वेब होस्टिंग कई प्रकार की होती है। जिनमें से सबसे पहले आता है शेयर्ड वेब होस्टिंग, दूसरा होता है VPS वेब होस्टिंग और तीसरा होता है डेडीकेटेड सरवर। ये सारे सर्वर्स अलग-अलग लेवल पर काम करती है। और दुनिया भर के सभी ऑनलाइन वेबसाइट और एप्लीकेशन को सर्व करती हैं।

आपको जानकारी कैसी लगी कृपया कमेंट बॉक्स में बताइए। अगर आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न है। तो कृपया कमेंट बॉक्स में अपने प्रश्न को जरूर लिखिए। धन्यवाद!

आपको इसे भी अवश्य पढना चाहिए:
  1. ज्यादा ट्रैफिक के लिए SEO Friendly ब्लॉग पोस्ट कैसे लिखे?
  2. वेब डिजाइनिंग क्या होता है?
  3. इंटरनेट कैसे काम करता है?
  4. सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO) क्या होता है?
  5. ब्लॉगर कैसे बना जाता है?
  6. ब्लॉग से पैसा कैसे कमाते हैं (Earn money with blog)
  7. Adf.ly पर हर महीने ₹5,000-₹10,000 रुपये कैसे कमाए?
  8. गूगल ऐडसेंस (Google AdSense) क्या है?  इससे पैसे कैसे कमाते है? 
  9. WordPress क्या है? (पूरी जानकारी)

Sunday, 23 April 2017

वेब डिजाइनिंग क्या है?

वेब डिजाइनिंग क्या होता है? वेब डिजाइनिंग लैंग्वेज को कैसे सीखें? Web designing kya hota hai? Web designing ko kaise sikhe? Web desginer kaise bane. web designing in hindi pdf. php kya hai. html kaise sikhe. website development in hindi. web designing kaise sikhe.

अक्सर हमारे साथ यह होता है कि जब भी हम किसी वेबसाइट पर विजिट करते हैं। तो हमारे दिमाग में एक प्रश्‍न आता है कि आखिर यह वेबसाइट कैसे बना होगा? जाहिर सी बात है। आप यह तो जानते ही होंगे कि वेब डिजाइनिंग के जरिए ही वेबसाइट बनाया जाता है। तो सबसे पहले प्रश्‍न आता है कि:


वेब डिजाइनिंग क्या होता है?

  • जब भी हम किसी वेबसाइट पर विजिट करते हैं। तो जो उसकी रूपरेखा यानि उसकी डिजाइन और उसका लेआउट जो हमें दिखाई देता है। उस वेबसाइट प्रेजेंटेशन  को हम वेब डिजाइनिंग कहते हैं।
  • जिस तरह हम घर में सब्जी बनाते हैं। तो उसमें तमाम तरह का सामान डालना पड़ता है। जैसे नमक, हल्दी, तेल, मसाला, प्याज, लहसुन, अदरक, धनिया आदि। वैसे ही वेब डिजाइनिंग करते समय हमें कई प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की आवश्यकता पड़ती है।
  • वेब डिजाइनिंग का सिर्फ यह काम होता है कि वेबसाइट को सही तरीके से एक रूपरेखा प्रदान करना। जबकि वेब डेवलपर का काम वेबसाइट के पीछे चल रहे प्रोग्राम को बनाना होता है। जैसे कि रजिस्ट्रेशन, डाटा हैंडलिंग, डाटा मैनेजमेंट इत्यादि।
  • एक अच्छा  वेब डिजाइनर बनने के लिए आपके पास वेबसाइट से जुड़ी हर तरह की जानकारी होना आवश्यक है।
  • वेब डिजाइनर बनने के लिए आपको कुछ लैंग्वेज की कोडिंग सीखनी होगी। तो चलिए जान लेते हैं। आखिर वह कौन सी लैंग्वेज है। जिनको वेब डिजाइनर बनने के लिए सीखना जरुरी है।
वेब डिजाइनिंग क्या होता है? वेब डिजाइनिंग लैंग्वेज को कैसे सीखें? Web designing kya hota hai? Web designing ko kaise sikhe? Web desginer kaise bane.

सबसे पहले HTML लैंग्वेज आता है।

HTML वेब डिजाइनिंग का सबसे बेसिक लैंग्वेज है। जिसे आप को सबसे पहले सीखना बहुत जरुरी है। HTML का फुल फॉर्म हाइपर टेक्स्ट मार्कअप लैंग्वेज होता है। यह वेबसाइट के लेख, हैडिंग और टैग्स के लिए काम आता है। HTML कोडिंग एक वेबसाइट का पूरा स्ट्रक्चर होता है।


दूसरा CSS लैंग्वेज है।

HTML के बाद वेबसाइट के स्ट्रक्चर को डिजाइन करने के लिए और उसको रिस्पांस बनाने के लिए CSS लैंग्वेज काम आता है।


तीसरी PHP लैंग्वेज है।

PHP वह भाषा है। जो हमें वेबसाइट पर सभी प्रकार के डाटा को मैनेज करने के लिए काम आता है। जैसे रजिस्ट्रेशन डाटा,  इंट्री डाटा,  मैनेजमेंट डाटा बेस आदि इंफॉर्मेशन को तोड़ मरोड़ कर जरूरत के हिसाब से वेबसाइट के उन हिस्सों में दिखाना जहां पर उसकी जरूरत होती है।

एक्सपर्ट्स का मानना है कि दुनिया का सबसे फेमस वेबसाइट या ब्लॉगिंग वेबसाइट वर्ल्डप्रेस प्लेटफार्म पर काम करता है। जो की पूरी तरह से PHP लैंग्वेज पर आधारित है। इसलिए वेब डिज़ाइनर बनने के लिए आपको HTML, CSS और PHP लैंग्वेज  सीखना बहुत ही जरूरी है।
 


वेब डिजाइनिंग लैंग्वेज को कैसे सीखें?

अगर आप इन लैंग्वेज को ऑनलाइन सीखना चाहते है। तो आपको बहुत से वेबसाइट मिल जाएंगे जहां पर आपको HTML, CSS और PHP लैंग्वेज के टुटोरिअल मिल जाएंगे। लेकिन अगर आप थोड़ा और ज्यादा गंभीर  है वेब डिजाइनिंग को सिखने के लिए तो नीचे दिए गए इन किताबों को आप खरीद सकते हैं। यह किताबें Amazon पर उपलब्ध हैं। जिनका लिंक यहाँ निचे दिया गया है। आप यहां से क्लिक करके Amazon से खरीद सकते हैं।


वेब डिजाइनिंग सीखने के लिए आप इन किताबों को खरीद सकते है।

वेब डिजाइनिंग क्या होता है? वेब डिजाइनिंग लैंग्वेज को कैसे सीखें? Web designing kya hota hai? Web designing ko kaise sikhe? Web desginer kaise bane. web designing in hindi pdf. php kya hai. html kaise sikhe. website development in hindi. web designing kaise sikhe.

वेब डिजाइनिंग क्या होता है? वेब डिजाइनिंग लैंग्वेज को कैसे सीखें? Web designing kya hota hai? Web designing ko kaise sikhe? Web desginer kaise bane. web designing in hindi pdf. php kya hai. html kaise sikhe. website development in hindi. web designing kaise sikhe.


अगर आपके मन में किसी प्रकार का डाउनड है या फिर प्रश्न है तो कृपया कमेंट बॉक्स में लिखें और हमें बताइए हम आपके प्रश्न का उत्तर जल्द से जल्द देंगे

Wednesday, 5 April 2017

अपने Facebook अकाउंट को हैकिंग से कैसे बचाए?

अपना फेसबुक अकाउंट को हैक होने से कैसे बचाया जाता हैं?

अपना फेसबुक अकाउंट को हैक होने से कैसे बचाया जाता हैं? Facebook account ko hack hone se kaise bachaye. Facebook account mein security kaise badhayi jaati hai. facebook ki id kaise hack kare  facebook ka password jane ke tarike  facebook account delete kaise kare  facebook id block software  facebook se number kaise nikale  facebook id block open  kisi ki facebook id block karne ka tarika  facebook se apna number kaise hataye

आज के समय में अगर देखा जाए तो हैकिंग काफी आम बात हो गयी हैं। लेकिन शायद आप नही जानते होंगे कि अगर आपका अकाउंट हैक होता है, तो उसके जिम्मेदार आप खुद हैं। क्यों कि आपकी लापरवाही के कारण ही आपका फेसबुक अकाउंट हैक होता हैं।

आज मैं आपको इस वेबसाइट पर कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहा हूं। जिसकी मदद से आप अपना Facebook अकाउंट हैक होने से बचा सकते हैं। तो चलिए शुरू करते हैं और जान लेते हैं कि ऐसी कौन सी चीजें हैं जो हमें अपने Facebook अकाउंट पर ध्यान देनी चाहिए।

यहाँ पढ़े: Adf.ly पर हर महीने ₹5,000-₹10,000 रुपये कैसे कमाए?

फेसबुक अकाउंट को हैकिंग से बचने की टिप्स

अपना फेसबुक अकाउंट को हैक होने से कैसे बचाया जाता हैं? Facebook account ko hack hone se kaise bachaye. Facebook account mein security kaise badhayi jaati hai. facebook ki id kaise hack kare  facebook ka password jane ke tarike  facebook account delete kaise kare  facebook id block software  facebook se number kaise nikale  facebook id block open  kisi ki facebook id block karne ka tarika  facebook se apna number kaise hataye
  • आप अपने Facebook अकाउंट के फ्रेंड लिस्ट में किसी भी अनजान व्यक्ति को Add ना करें या फिर अगर कोई अनजान व्यक्ति आपको Friend Request भेजता है। तो कृपया आप उसके Friend Request को स्वीकार ना करें।
  • कभी भी अपना मोबाइल नंबर, ईमेल ID और जन्मदिन की तारीख की प्राइवेसी पब्लिक शेयरिंग में ना रखें अर्थात प्राइवेसी में जाकर इन सभी जानकारियों को सिर्फ अपने दोस्तों (only friends) के साथ या फिर सिर्फ अपने (only me) उपयोग के लिए सेट कर दीजिए।
  • महीने में कम से कम एक बार अपना पासवर्ड अवश्य बदले।
  • अपने Facebook की सिक्योरिटी और अधिक बढ़ाने के लिए फेसबुक पर अपने परिवार के लोगों को या फिर सबसे ज्यादा भरोसेमंद दोस्तों को people verification security पर add कर दें। यह सेटिंग तब काम आएगी जब अगर आपका Facebook अकाउंट किसी हैकर द्वारा हैक कर लिया जाता है तो उसे रिकवर अथार्त पासवर्ड को रिसेट करने में मदद मिलेगी।
  • अगर आप इन सभी बातों का ध्यान देते हैं तो आपका फेसबुक अकाउंट हैकरो से सुरक्षित रहेगा।

आपको यह फेसबुक से जुड़ी जानकारी कैसी लगी?

अगर आप Facebook से जुडी और अधिक जानकारी चाहते हैं। तो कृपया कमेंट बॉक्स में लिखिए और हमें बताइए। हम आपके लिए ऐसे ही उपयोगी जानकारियां अक्सर इस वेबसाइट पर डालते रहते हैं।

Monday, 27 February 2017

Web Designer बनने के लिए क्या करे?

Web designer बनने के क्या करना होगा?

Hello readers, इस video में आप जानेंगे कि आप कैसे Web Designer बन सकते हैं. आपको वेब डिजाइनर बनने के लिए कौन -कौन सी language सीखनी होती है और भी काफी जानकारी इस वीडियो में आपको मिल जाएगी. अगर आपको यह वीडियो अच्छा लगता है, तो प्लीज इसको लाइक करिए. अगर आपके मन में किसी तरह का डाउट है या फिर question है, तो आप प्लीज कमेंट बॉक्स में लिखें. धन्यवाद!

Web designer बनने के लिए इस विडियो को सूरू से अंत तक देखे।

Facebook से हो सकती है, आपको ये Problems!

क्या आप जानते हैं की अधिक फेसबुक चलना आपको भारी पड़ सकता है (Side effects of Facebook in Hindi)

जैसा कि हम जानते हैं Facebook दुनिया का सबसे बड़ा सोशल नेटवर्किंग साइट बन चुका है। लेकिन आप यह नहीं जानते Facebook वेबसाइट पर पोस्ट को लाइक करना और स्टेटस को अपडेट करना आपके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है और इस पर हाल ही में अध्ययन भी किया जा चुका है।

जरूर पढ़े: भारत में उड़न तस्तरी (UFO) देखे जाने की 5 घटनाएं

negative effects of facebook on students  positive effects of facebook  negative effects of facebook on teenagers  negative effects of facebook essay  psychological effects of facebook  side effects of facebook addiction  facebook negative points  negative effects of facebook on relationships


Facebook's side effect experiment at California University

सैन डियागो में स्थित कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के 1 सहायक प्रोफेसर, जिनका नाम प्रोफेसर होली शक्या है। उन्होंने इस पर एक अध्ययन किया है। प्रोफेसर होली शक्या और उनके सहयोगी साथियो ने लगभग 5,200 लोगों पर 3 स्टेप में कुछ अध्ययन किए और उस अध्ययन की मदद से कुछ ऐसे रिजल्ट्स बाहर निकाली है जो हमें हैरान कर देता है।

यहाँ पढ़ें: Adf.ly से घर बैठें पैसा कैसे कमाते हैं?

उन्होंने उनके स्वास्थ्य को चार स्केल और उनकी मानसिक संतुष्टि के लिए 10 स्केल निर्धारित किया और उसके साथ-साथ उन्होंने बॉडी मास इंडेक्स (Body Mass Index) संख्या का भी पता लगाया जिससे हैरान कर देने वाली बातें सामने आए।

negative effects of facebook on students  positive effects of facebook  negative effects of facebook on teenagers  negative effects of facebook essay  psychological effects of facebook  side effects of facebook addiction  facebook negative points  negative effects of facebook on relationships


एक्सपेरिमेंट्स के रिजल्ट (Result of experiments)

एक्सपेरिमेंट के दौरान सभी लोगों ने अपना Facebook अकाउंट की अंदर तक की जानकारी देने की अनुमति शोधकर्ताओं को दी थी। इससे यह बात सामने आई कि जो लोग Facebook पर अधिक लाइट के चक्कर में रहते हैं।  उनके स्वास्थ्य और मानसिक विचार में बुरा असर पड़ता है।

शोधकर्ताओं ने बताया है की जो लोग Facebook पर सबसे ज्यादा पोस्ट अपडेट करते हैं, उनकी तुलना में कम करने वाले लोग ज्यादा खुश रहते हैं।

negative effects of facebook on students  positive effects of facebook  negative effects of facebook on teenagers  negative effects of facebook essay  psychological effects of facebook  side effects of facebook addiction  facebook negative points  negative effects of facebook on relationshipsnegative effects of facebook on students  positive effects of facebook  negative effects of facebook on teenagers  negative effects of facebook essay  psychological effects of facebook  side effects of facebook addiction  facebook negative points  negative effects of facebook on relationships

शोधकर्ताओं ने सलाह दिया है कि जो भी लोग इस प्रॉब्लम से जूझ रहे हैं, उन्हें Facebook दिन में एक से दो मिनट्स से ज्यादा उसे न करे या फिर अच्छा हो कि वह Facebook चलाना बंद कर दें और यह उनके लिए काफी अच्छा साबित होगा।

क्योंकि हर चीज का उपयोग वहीं तक अच्छा है, जहां तक की उसकी लत ना लग जाए एक बार किसी चीज की लत लग जाती है तो वह एक बीमारी का रूप धारण कर लेती है। अगर आपको यह जानकरी अच्छी लगे तो इसको शेयर करना न भूले।

Monday, 5 September 2016

फ्री में मोबाइल फ़ोन के जरिये अपना वेबसाइट बनाये।

फ्री में मोबाइल फ़ोन के जरिये अपना वेबसाइट बनाना सीखें। (Learn to Make Your Own Website on Your Mobile Phone in Hindi)

Learn to make free mobile website in hindi. How to make free website in hindi. Best hindi guide tutorials.

नमस्कार, दोस्तों! www.hindistudy.in  वेबसाइट पर आपका स्वागत है। आज मैं आपको मोबाइल फ़ोन पर खुद का वेबसाइट बनाना बताऊंगा। जैसा की हम सभी जानते है आज के युग में मोबाइल फ़ोन हर किसी के पास अवश्य होता है। और अगर मोबाइल फ़ोन हो तो उसमे इन्टरनेट आप अवश्य उपयोग करते होंगे। ये जो वेबसाइट बनाने का तरीका बताने जा रहा हु वो बिलकुल फ्री है और इसमें आपको लैपटॉप की जरूरत भी नही पड़ेगी।

फ्री में वेबसाइट बनाने के लिए जरूरत की चीज़े। (Requirement for making free website on mobile)

आपको फ्री में वेबसाइट बनाने के लिए एक एंड्राइड फ़ोन और  2G या 3G सिम किसी भी नेटवर्क का चाहिए। आपके मोबाइल में ओपेरा मिनी वेब ब्राउज़र इन्सटाल्ड होना चाहिए।


फ्री वेबसाइट बनाने की विधि (Methods to make free website in Hindi)

1. सबसे पहले आपको इस लिंक पर क्लिक करके रजिस्टर करना होगा।


2. आप ईमेल, पासवर्ड और साइट नाम डाल कर या फेसबुक के जरिये रजिस्टर या Signup कर सकते है।
Learn to make free mobile website in hindi. How to make free website in hindi. Best hindi guide tutorials.

3. रजिस्टर करने बाद आपको अपने ईमेल पे जा कर अपना फ्री वेबसाइट बनाने का वेरिफिकेशन ईमेल को कन्फर्म करना होगा।

4. लिंक को ईमेल द्वारा वेरीफाई करने के बाद आपको xtgem.com पर जा कर लॉगिन करके अपना वेबसाइट के लिए बना बनाया डिजाईन  को सेलेक्ट करना होगा।

5. डिजाईन सेलेक्ट करने के बाद आप उसपर पेज बना सकते है। उन पेजेज पे आप फोटोज, टेक्स्ट या अन्य फाइल भी अपलोड कर सकते है।

6 . यह फ्री सर्विस XTGEM द्वारा सिर्फ मोबाइल के लिए वेबसाइट बनाने के लिए है।


आपको ये फ्री वेबसाइट बनाने की ट्रिक कैसी लगी? 

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगे तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों और परिवार के लोगों को शेयर करें। नए  कंप्यूटर और इन्टरनेट जुड़ी से जानकारी पढ़ने के लिए इस वेबसाइट से जुड़े रहे। आप मुझे फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम पर भी फॉलो कर सकते हैं । यह पोस्ट आपको कैसा लगा नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। धन्यवाद!

यहाँ पढ़े: