Showing posts with label Shrimad Bhagavad Gita in Hindi. Show all posts
Showing posts with label Shrimad Bhagavad Gita in Hindi. Show all posts

सुख-दु:ख के बारे में - श्रीमद भगवत गीता

Happiness and grief - Shrimad Bhagavad Gita in Hindi
सुख-दु:ख अस्थायी और अनित्य है। इसलिए तुम उसको सहन करना सीखो।

दोस्तों ऊपर लिखा हुआ वाक्य भागवत गीता से लिया गया है।

इस वाक्य का अर्थ यह है कि सुख और दु:ख दोनों ही बारी-बारी से हमारे जीवन में प्रवेश करते हैं। और चले जाते हैं।  जब सुख आता है तो व्यक्ति सोचता है कि सब कुछ अच्छा हो रहा है। उसको दुनिया की समस्त चीजें अच्छी लगने लगती हैं। लेकिन जब दु:ख आता है तो नकारात्मक चीजें उसको चारों तरफ से घेर लेती है। उसको कोई चीज़ अच्छा भी हो तो उसमे भी उसको बुराई दिखाई देने लगता है। वह हमेशा नकारात्मक चीजें सोचने लगता है। और अपनी समस्याओं में ही उलझा रहता है। इसलिए हे भगवान! मुझे ऐसी शक्ति दो कि मैं सुख के साथ-साथ दु:ख को भी अपने जीवन का एक हिस्सा मान कर उसे ग्रहण कर सकू और मेरे जीवन में जितने भी दु:ख के समय है या आने वाले हैं। उन सभी दु:खों का सामना करने की शक्ति मेरे अन्दर प्रदान करे।

कितना अच्छा और कितना सुंदर विचार - भगवत गीता में कहा गया है।

कृपया इस पेज को जितना ज्यादा हो सकेअपने दोस्तों और  अपने परिवार के लोगों के साथ-साथ अपने Facebook और WhatsApp पर जरुर शेयर करें। धन्यवाद

आत्मा के बारे में - श्रीमद भगवत गीता

About Soul - Shrimad Bhagwat Geeta in Hindi. आत्मा को कोई भी शस्त्र नहीं काट सकती, इसे आग नहीं जला सकती, इसे जल भिगो नही सकता और ना ही वायु सुखा सकती है।
आत्मा को कोई भी शस्त्र नहीं काट सकती, इसे आग नहीं जला सकती, इसे जल भिगो नही सकता और ना ही वायु सुखा सकती है।

यह वाक्य भागवत गीता से लिया गया है।

इस वाक्य में भगवान कहते हैं कि इस ब्रम्हांड के समस्त चीजें ऊर्जा से बनी हुई है। अर्थात मनुष्य, पेड़ पौधे, जानवर, घर, पृथ्वी, सूर्य, चँद्रमा आदि। यह सभी चीजें एक ही उर्जा का अनेक रूप हैं। जो नष्ट हो कर किसी और रूप में रूपांतरित हो जाती है। यानि किसी और ऊर्जा में बदल जाती है। उसी प्रकार हम मनुष्य भी एक ऊर्जा के समान है। जिसे आत्मा का नाम दिया गया है। जिसे कोई नष्ट नहीं कर सकता। हमारा अस्तित्व आज है, कल भी था और आगे भी रहेगा। बस हमारा रूप-रंग संरचना बदल जाएगी।

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो कृपया अपने मित्रों को और परिवार के लोगों के साथ अवश्य शेयर करें। धन्यवाद।