राष्ट्रीय आय क्या है? (National Income)

राष्ट्रीय आय के बारे में पूरी जानकारी (National Income)

national income, what is national income in hindi, what is national income in economics, national income in hindi, measures of national income and output, concepts of national income, calculation of national income, concept of national income, introduction to national income, gross national income, national income accounting, national income economics, gdp, economics, gross national product, nnp, gnp, ndp, income, domestic income

राष्ट्रीय आय क्या है? राष्ट्रीय आय से आशय किसी देश में एक वर्ष के मध्य में उत्पादित सभी वस्तुओं एवं सेवाओं के बाजार मूल्य के योग से है. जिसमें ह्रास घटाकर व विदेशी लाभ जोड़कर निकाला जाता है।

वर्तमान में भारत सरकार का ‘केन्द्रीय सांख्यिकी संगठन' (CSO) भारत की राष्ट्रीय आय को गणना करता है।

राष्ट्रीय आय के मापन की पद्धति (Method of measurement of national income)

राष्ट्रीय आय साधन लागत पर आकलित निवल राष्ट्रीय उत्पाद है। साइमन कुजनेट्स जो राष्ट्रीय आय लेखांकन (National Income Accounting) के जन्मदाता हैं। इन्होने राष्ट्रीय आय के मापन की तीन पद्धति प्रस्तुत की है , जो निम्नलिखित हैं।

जरूर पढ़े: वैज्ञानिक कारण - सामान्य ज्ञान (GK)

उत्पाद पद्धति (Product method)

कुजनेट्स ने इस विधि को वस्तु सेवा विधि के नाम से परिभाषित किया है। इस पद्धति के अन्तर्गत देश में एक वर्ष में उत्पादित अन्तिम वस्तुओं तथा सेवाओं का शुद्ध मूल्य ज्ञात किया जाता है। तथा उसके योग अन्तिम उपज योग (Final Product Total) कहा जाता है।

यहाँ पढ़े: विश्व से संबंधित सामान्य ज्ञान - GK Related to the World in Hindi

आय पद्धति (Income system)

इस पद्धति के अन्तर्गत राष्ट्रीय आय की गणना के लिए विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत व्यक्तियों तथा व्यावसायिक उपक्रमों की शुद्ध आय का योग प्राप्त किया जाता है। डॉ. बाउले तथा रॉबर्टसन के अनुसार, आय गणना विधि के अन्तर्गत आयकर देने वाले तथा आयकर न देने वाले समस्त व्यक्तियों की आय को जोड़ दिया जाता है।

अवश्य पढ़े: सौरमंडल के बारे में [About Solar System in Hindi]

व्यय पद्धति (Expenditure method)

इस विधि को उपभोग बचत विधि भी कहते हैं। इस विधि के अनुसार कुल आय या तो उपभोग पर व्यय की जाती है। अथवा बचत पर, अत: राष्ट्रीय आय कुल उपभोग तथा कुल बचतों का योग होती है। इस विधि से आय की गणना करने के लिए उपभोक्ताओं की आय तथा उनकी बचत से सम्बन्धित आंकड़ों का उपलब्ध होना आवश्यक होता है।

चूँकि इस प्रकार के सही आंकड़े आसानी से उपलब्ध नहीं हो पाते, अत: इस विधि का प्रयोग सामान्यतकम किया जाता है। भारत जैसे देश में राष्ट्रीय आय की गणना के लिए उत्पादन प्रणाली (Production Method) तथा आय प्रणाली (Income Method) का सम्मिश्रण प्रयोग किया जाता है।

How to copy text from photo? [Hindi]

 किसी भी फोटो से टेक्स्ट को कॉपी कैसे करें?

how to copy text from image, copy text from image, how to copy text from picture, how to copy text from images, text, image to text, how to copy text from image in hindi, copy, how to, extract text from image, copy text from jpeg, convert jpeg to text, copy text from pdf, image, photo to text, copy text, copy text from website, copy text from pic, copy text from secured pdf, copy text from image online, copy text from image file

आपका हिंदी स्टडी वेबसाइट पर स्वागत है। आज इस वेबसाइट पर आप जानेंगे कि कैसे किसी भी फोटो पर लिखे अक्षरों को कॉपी (How to copy text from photo? [Hindi]) किया जा सकता है। यहाँ बताया गया है कि किसी भी फोटो पर जो भी अक्षर वाक्य लिखे गए हैं। उनको आप कॉपी करके कहीं भी शेयर कर सकते हैं।

यहाँ देखे: टॉप 10 विडियो एडिटिंग एंड्राइड एप्लीकेशन | Video Editing Android Applications

यह जानने के लिए नीचे दिए गए वीडियो को पूरा देखिए। इस वीडियो को देखने के बाद आप जान जाएंगे कि कैसे Android फोन की मदद से फोटो पर लिखे अक्षरों को कॉपी किया जा सकता है।

विडियो को देखे

यह जानकरी कैसी लगी?

How to copy text from photo? [Hindi] आशा करता हूं। इस वीडियो को देखने के बाद आप यह जान चुके होंगे कि Android फोन की मदद से कैसे फोटो पर लिखे अक्षरों को कॉपी किया जा सकता है।

यहाँ देखें: एंड्राइड मोबाइल फ़ोन फॉर्मेट करने से पहले सारे ऍप्लिकेशन्स का बैकअप बनाये

आशा करता हूं यह वीडियो आपको अच्छा लगा होगा। अगर आपके मन में किसी भी प्रकार का प्रश्न है। तो नीचे कमेंट बॉक्स पर जरूर लिखिएगा। धन्यवाद!

वैज्ञानिक कारण - सामान्य ज्ञान (GK)

वेबसाइट पर वैज्ञानिक कारण के बारे में बात करेंगे. वैज्ञानिक कारण - सामान्य ज्ञान. जनरल नॉलेज. इम्पोर्टेन्ट टॉपिक्स.

वैज्ञानिक कारण - सामान्य ज्ञान (GK)

आज हम इस वेबसाइट पर वैज्ञानिक कारण के बारे में बात करेंगे। जो हमारे डेली लाइफ में घटित होता है। और हामरे सामान्य ज्ञान के लिए काफी जरुरी है। तो चलिए शुरू करते हैं।

सवाल-जवाब (Question and Answer)

हवाई जहाज से यात्रा करते समय पेन से स्याही निकलने लगती है -
- क्योंकि वायुदाब में कमी के कारण।

जब लिफ्ट ऊपर की ओर जाता है, तो आदमी का भार वास्तविक बाहर से अधिक होता है -
- क्योंकि उसकी चाल ऊपर की ओर समरूप होती है।

पृथ्वी पर वायुमंडलीय दाब का कारण है -
- गुरुत्वाकर्षण। 

यहाँ पढ़े: जरूरी (Useful) Information About Computer in Hindi

प्रेशर कुकर में खाना जल्दी पकता है -
- क्योंकि दाब अधिक होने से क्वथनांक बढ़ जाता है।

दलदल में फंसा व्यक्ति को लेट जाने की सलाह दी जाती है -
- क्योंकि क्षेत्रफल अधिक होने पर दाब कम हो जाता है।

बर्फ पानी में तैरती है परंतु अल्कोहल में डूब जाती है -
- क्योंकि बर्फ पानी से हल्की होती है तथा अल्कोहल से भारी। 

यहाँ पढ़े: सौरमंडल के बारे में [About Solar System in Hindi]


शेविंग ब्रश को पानी से निकाले जाने पर इसके बाल आपस में सटे रहते हैं -
- पृष्ठ तनाव के कारण।

वर्षा की बूंदें एवं पारे के बूँद गोलाकार होती हैं -
- पृष्ठ तनाव के कारण।

लालटेन की बत्ती में तेल ऊपर चढ़ता है -
- केशिकत्व के कारण।

ब्लाटिंग पेपर स्याही सोख लेता है -
- केशिकत्व के कारण। 

यहाँ पढ़े: प्रकाश के बारे में (About Light in Hindi)

कपूर के छोटे-छोटे टुकड़े जल की सतह पर नाचते हैं -
- पृष्ठ तनाव के कारण।

पानी कांच को भिगों देता है -
- आसंजक बल के कारण।

प्रतिध्वनि का कारण है -
- ध्वनि का परावर्तन।

बर्फ के दो टुकड़ों को आपस में दबाने पर टुकड़े आपस में चिपक जाते हैं -
- क्योंकि दाब अधिक होने से बर्फ का गलनांक घट जाता है। 

यहाँ पढ़े: 50+ Important Environmental Science Questions with Answers

वायुमंडल में हमारे ऊपर बादलों के तैरने का कारण है -
- उनका कम घनत्व तथा वायु की श्यानता।

तेज हवा वाली रात्रि में ओस नहीं बनती -
- क्योंकि वाष्पीकरण की दर तेज होती है।

तापमापी में पारे का प्रयोग किया जाता है -
- क्योंकि पारा गरम होने पर अधिक फैलता है।

ठंडे प्रदेशों में पारा के स्थान पर अल्कोहल को तापमापी द्रव्य को वरीयता दी जाती है -
- क्योंकि अल्कोहल का द्रव्यमान निम्नतम होता है। 

यहाँ पढ़े: विश्व से संबंधित सामान्य ज्ञान - GK Related to the World in Hindi

कृपया कमेंट करना न भूले

आशा करता हूं यह जानकारी आपके लिए काफी फायदेमंद साबित होगी इसी तरह से हिंदी स्टोरी से जुड़े रहिए और कृपया कमेंट करना नाभूलियेगा.

समय कैसे काम करता है? (Facts About Time)

Time ke baare mein rochak jaankari. Facts About Time. Samay kis prakar kaam karta hai. Samay ka importance kya hai. facts, time, time travel, science, time travel proof, facts about time, top 10, facts about, amazing facts, interesting facts, space, time machine, facts to blow your mind, time travel theory, 107 facts about, real time travel, 107 facts, 10 facts, time traveler, ocarina of time, once upon a time, time travelers, fun facts, proof of time travel, cleopatra, moon, animation, education, list, pyramids, sun, video, universe, bizarre, earth, interesting, strange, top, aliens, atom

समय कैसे काम करता है? (Facts About Time)

नमस्कार दोस्तों ! आपका इस वेबसाइट पर स्वागत है। आज मैं आप को समय के बारे में बताने जा रहा हूं। आखिर समय किस तरह से काम करता है?

जैसा कि हम जानते हैं कि सूरज की किरण को धरती तक आने में 8 मिनट लगता है। इसका मतलब यह है कि अगर 5:00 बजे हमें लगता है कि सूर्योदय हुआ है। इसका मतलब 4:52 AM यानि 8 मिनट पहले ही सूर्य उदय हो चुका है। यानी सूर्य की किरण को आने में 8 मिनट समय लगा है।


ग्रहों पर समय का अंतर (Time Difference)

उसी प्रकार हम यह कह सकते हैं कि हर ग्रह पर समय अलग-अलग प्रकार से काम करता है। जो ग्रह सूर्य के जितना नजदीक है। उसके लिए समय बहुत तेजी से व्यतीत होगा। लेकिन जो ग्रह सूर्य से जितना दूर है। उसके लिए समय काफी धीमे गति से व्यतीत होगा। 


आइंस्टीन के सिद्धांत के अनुसार

यह समझना काफी मुश्किल है। क्योंकि आइंस्टीन के सिद्धांत के अनुसार अगर आप प्रकाश की गति से सफर करते हैं। तो आप कई साल आगे अपने भविष्य में पहुंच सकते हैं। उसी प्रकार समय भी इस सिद्धांत पर काम करता है।


आशा करता हूं। यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। अगर यह जानकारी आपको अच्छी लगे। तो कृपया अपने दोस्तों के साथ शेयर करें। धन्यवाद!

Time Travel and Parallel Universe Theory in Hindi

time travel in hindi, time travel hindi, time travel, time travel proof, time travel proof in hindi, mysterious cases of time travel in hindi, time travel concept in hindi, time travel proof in india, real time travel, time travel in india, is it possible to travel back in time, wormhole time travel hindi, hindi time travel video, time travel train hindi, wormhole time travel, is time travel real, time travel experiment, time travel is real

Time Travel and Parallel Universe Explained in Hindi

जैसा कि आप जानते हैं। इस वेबसाइट पर मैंने पहले ही समय यात्रा(Time Travel) और समांतर ब्रह्मांड(Parallel Universe) के बारे में बता रखा है।  आज मैं समांतर ब्रह्मांड सिद्धांत और समय यात्रा के सिद्धांत को जोड़कर एक नया सिद्धांत के बारे में बात करने जा रहा हूं।

जैसा कि हम जानते हैं कि समय यात्रा में आप अपने भविष्य या फिर भूतकाल में जाकर। वहां पर आप अपनी गलतियों को सुधार सकते हैं। या फिर कोई ऐसी जरूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। जिसे आपको उस समय जानी चाहिए थी।

यहाँ पढ़े: आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) क्या है?

लेकिन आज मैं इस वेबसाइट पर समय यात्रा और समांतर ब्रह्मांड के बीच संबंध को प्रदर्शित करने वाला हूं।

मान लीजिए कोई व्यक्ति समय यात्रा करके अपने भूतकाल में 10 वर्ष पीछे जाता है। और वहां जाकर कुछ ऐसी घटना करता है। जिससे कि उसका भविष्य बदल सकता है। लेकिन जब वह अपने वर्तमान समय में वापस आता है। तो यह देखता है कि वर्तमान समय में कुछ भी बदलाव नहीं हुआ तो इससे यह सिद्ध होता है कि 10 साल पीछे घटना के बाद आप एक अलग समयकाल में रह रहे है। जो आपके वर्तमान काल के समान्तर चल रहा है।


समान्तर ब्रह्माण्ड की रचना

time travel, time travel in hindi, time travel proof, samay yatra, time travel hindi, is time travel possible, time machine, real time travel, time, real cases of samay yatra, science, travel, hindi, is time travel real, समय यात्रा, time travel documentary, time travel theory, time travel cases, mystery, time traveler, samay yatra hindi, time traveling, stephen hawking, planet earth india, einstein, samay yatra video, time travel proof in india

किसी और समय काल में आप रह रहे हैं। जो आपके समय और स्थिति के समांतर कार्य कर रहा है। तो आप यह कह सकते हैं कि आपके ब्रह्मांड, समय और स्थिति के समांतर कोई और ब्रह्मांड, समय और स्थिति की रचना हो चुकी है। आप जितनी बार भूतकाल में जाकर अलग-अलग घटनाएं करेंगे। उतनी बार आपके ब्रह्मांड, समय और स्थिति के समांतर अन्य ब्रह्मांड की रचना होते चली जाएगी।


इससे यह सिद्ध होता है कि समांतर ब्रह्मांड समय यात्रा की वजह से भूतकाल या भविष्य में की गई घटनाओं की वजह से रचना हुई है।

आशा करता हूं। यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। अगर यह जानकारी आपको अच्छी लगे तो नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर लिखिएगा और इस जानकारी को शेयर करना ना भूलिएगा.

Mobile Number Ko Aadhar Se Link Kaise Kare [Sirf 1 Minunte Mein]

Mobile Number Ka Aadhar Ke Zariye Verification

Aadhar card ko mobile number registration. Aadhar card se mobile number kaise jode. Aadhar card ki official website. Mobile ka aadhar k zariye verification.  Link aadhar card mobile number with online.  Sim ko aadhar se link kaise kare.  Aadhar card me mobile number registration kaise kare.  Aadhar card se mobile number kaise link kare.

नमस्कार दोस्तों !  अगर आप एक भारतीय हैं। तो सीधी सी बात है। आपका आधार कार्ड तो होगा ही। और आपको पता होगा कि भारत सरकार का आदेश के अनुसार हर एक मोबाइल नंबर से आधार कार्ड नंबर लिंक होना बहुत जरूरी है।

अगर आपने अभी तक अपने मोबाइल नंबर को आधार कार्ड से वेरीफाई नहीं कराया है। तो आपके पास उससे संबंधित कॉल और मैसेज हमेशा आता रहता होगा। तो चलिए जान लेते हैं कि कैसे अपने आधार कार्ड को मोबाइल नंबर से लिंक करते हैं।

आधार कार्ड को मोबाइल नंबर से वेरीफाई करने का एक तरीका तो यह है कि हम किसी दुकानदार के पास जाएं। जो आधार नंबर को मोबाइल से वेरीफाई करता हो। या उसको कुछ पैसे देकर वेरीफाई करा ले। पर एक और तरीका भी है। तो चली जान लेते हैं। वह कौन सा तरीका है?

इस माध्यम के जरिए अपने आधार कार्ड को मोबाइल नंबर से लिंक कर सकते है। 

इस तरीके से मोबाइल नंबर में आधार कार्ड नंबर वेरीफाई करने के लिए हमें एक नंबर है। जिस पर कॉल करना होता है। और उसमें जो स्टेप बताया गया है उसे फॉलो करें।
  • सबसे पहले अपने मोबाइल से एक नंबर पर कॉल करें।
  • वह 14546 नंबर है। फोन नंबर लग जाने के बाद कंप्यूटर द्वारा आवाज आएगी। जिसमें हमें अपनी भाषा चुनने के लिए कहा जाएगा। 
  • चुकी हिंदी के लिए आप मोबाइल का एक नंबर दबाकर अपनी भाषा को सेलेक्ट कर सकते हैं।
  • उसके बाद हमें अपने आधार कार्ड के 12 नंबर के डिजिट को वहां इंटर करके # बटन को दबाना होता है। 
  • अब जो हमारा आधार कार्ड नंबर है उसमें जो मोबाइल नंबर ऐड है। उस पर एक ओटीपी आएगा। 
  • वह ओटीपी को हमें वहां पर इंटर करना होता है। और उसके बाद फिर # दबाना होता है। 
  • इसके बाद आपके पास कंफर्मेशन मैसेज आ जाएगा। इसका मतलब है कि आपका आधार कार्ड नंबर आपके मोबाइल नंबर से लिंक हो चुका है। 
तो देखा आपने कितना आसान है। 1 मिनट में अपने मोबाइल नंबर को आधार कार्ड से लिंक कर लिया। आशा करता हूं। यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। क्योंकि काफी सरल माध्यम से इस में बताया गया है कि आधार कार्ड को कैसे मोबाइल नंबर से लिंक किया जाए।