विचारों की आवृति : Frequency of thoughts (Hindi Edition)

“विचारों की आवृति” (Frequency of Thoughts), is a collection of poems comprising thoughts which frequently appeared in the author’s mind.Once a poem is written, it disconnects the poet and becomes the property of the reader. Every reader reads the poems differently, ponders over it, analyzes and assess it.Some of the poems speak fiercely against anarchy, separatism and social unrest. Perhaps someone who has the heart and mind may listen.By writing some poems on nature and spirituality, the author has tried to provide readers some peace of mind in this era of helter-skelter.The author has also tried his best to solve some cumbersome, tricky questions of life with ease through poetry.These poems will definitely prove helpful in changing the outlook of readers and also serve as their best companions.”विचारो की आवृति” में वर्णित कविताएॅ वे हैं जो कि मेरे मन में जो विचार आते गए मैं उन्हे लिपिबद्व करता गया जो एक काव्य अभिव्यक्ति के रूप में आपके सम्मुख है । एक बार कविता लिखे जाने पर वह कवि से मुक्त हो पाठको की सम्पत्ति हो जाती है । प्रत्येक पाठक कविता को अपने अनुसार पढ़ता व मनन करता हैं तथा विवेचना व व्याख्या करता है। मेरी कुंछ कविताएॅ अराजकता अलगाववाद आदि तथा समाज में विभिन्न अनियमितताओं के विरूद्व प्रचंड वेग से चिल्लाती है! शायद कोई सुने! अध्यात्म व प्रकृति पर लिखी कविताओं द्वारा अपने व मानव के इस आपा.धापी के दौर में कुछ सुमन खिलाने का प्रयास किया है तथा कुछ अनसुलझे प्रश्नों को सुगमता व सहज भाव से सुलझाने की कोशिश की है । इससे पाठको को लेश मात्र भी खुशी व आनन्द की अनुभूति का अहसास होता है तो मेरा कविता लिखना सार्थक है। अपनी कविताओं के माध्यम से स्वयं को भी यह संदेश देने की कोशिश की है कि यदि हम सकारात्मक विचारों की आवृत्ति करतें है तो हमारे मन में एक संस्कार उत्पन्न करती है। जैसे अलविदा क्रोध मे यदि हमने एक बार क्रोध को दृष्टा की भाॅति देख लिया तो क्रोध अलविदा हो जाता है। इस प्रक्रिया को दोहराने से यह संस्कार हो जाता है तथा इसी प्रकार नकारात्मक दृष्टिकोण को रोकना भी सीखना है नकारात्मक विचारों को पूर्ण-विराम कहना हैं।

Category:

Description

“विचारों की आवृति” (Frequency of Thoughts), is a collection of poems comprising thoughts which frequently appeared in the author’s mind.Once a poem is written, it disconnects the poet and becomes the property of the reader. Every reader reads the poems differently, ponders over it, analyzes and assess it.Some of the poems speak fiercely against anarchy, separatism and social unrest. Perhaps someone who has the heart and mind may listen.By writing some poems on nature and spirituality, the author has tried to provide readers some peace of mind in this era of helter-skelter.The author has also tried his best to solve some cumbersome, tricky questions of life with ease through poetry.These poems will definitely prove helpful in changing the outlook of readers and also serve as their best companions.”विचारो की आवृति” में वर्णित कविताएॅ वे हैं जो कि मेरे मन में जो विचार आते गए मैं उन्हे लिपिबद्व करता गया जो एक काव्य अभिव्यक्ति के रूप में आपके सम्मुख है । एक बार कविता लिखे जाने पर वह कवि से मुक्त हो पाठको की सम्पत्ति हो जाती है । प्रत्येक पाठक कविता को अपने अनुसार पढ़ता व मनन करता हैं तथा विवेचना व व्याख्या करता है। मेरी कुंछ कविताएॅ अराजकता अलगाववाद आदि तथा समाज में विभिन्न अनियमितताओं के विरूद्व प्रचंड वेग से चिल्लाती है! शायद कोई सुने! अध्यात्म व प्रकृति पर लिखी कविताओं द्वारा अपने व मानव के इस आपा.धापी के दौर में कुछ सुमन खिलाने का प्रयास किया है तथा कुछ अनसुलझे प्रश्नों को सुगमता व सहज भाव से सुलझाने की कोशिश की है । इससे पाठको को लेश मात्र भी खुशी व आनन्द की अनुभूति का अहसास होता है तो मेरा कविता लिखना सार्थक है। अपनी कविताओं के माध्यम से स्वयं को भी यह संदेश देने की कोशिश की है कि यदि हम सकारात्मक विचारों की आवृत्ति करतें है तो हमारे मन में एक संस्कार उत्पन्न करती है। जैसे अलविदा क्रोध मे यदि हमने एक बार क्रोध को दृष्टा की भाॅति देख लिया तो क्रोध अलविदा हो जाता है। इस प्रक्रिया को दोहराने से यह संस्कार हो जाता है तथा इसी प्रकार नकारात्मक दृष्टिकोण को रोकना भी सीखना है नकारात्मक विचारों को पूर्ण-विराम कहना हैं।

Additional information

Author

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “विचारों की आवृति : Frequency of thoughts (Hindi Edition)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X