Adamya Sahas

“किस रूप में याद रखे जाने की आपकी अपेक्षा है? आपको अपने को विकसित करना होगा और जीवन करे एक आकार देना होगा। अपनी आकांक्षा को अपने सपने को एक पृष्ठ पर शब्दबद्ध कीजिए।यह मानव इतिहास का एक बहुत महत्वपूर्ण पृष्ठ हो सकता है। राष्ट्र के इतिहास में एक नया पृष्ठ जोड़ने के लिए आपकों याद रखा जाएगा। भले वह पृष्ठ ज्ञान-विज्ञान का हो, परिवर्तन का या खोज का हो, या फिर अन्याय के विरुद्ध संघर्ष का।” ये शब्द है भारत के राष्ट्रपति ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के, अदम्य साहस से उदूघृत, सीधे दिल की गहराई से निकले सादा, शब्द, गहन चिंतन को छाप छोड़ते और बुनियादी मुद्दों के बारे में उनके गहरे विचारों की झलक देते। लगभग जादुई असर वाले ये शब्द प्रेरणा जगाते हैं, और एक ऐसे विकसित देश का सपना संजोते है जो ‘सारे जहाँ से अच्छा’ है। मानवीय, राष्ट्रीय और वैश्विक सरोकारों से चिरयुवा, स्वभाव वाले, डॉ. कलाम के ये शब्द कर्मपथ पर आगे बढ़ने की प्रेरणा जगाते है और ऊर्जा देते है।

Category:

Description


“किस रूप में याद रखे जाने की आपकी अपेक्षा है? आपको अपने को विकसित करना होगा और जीवन करे एक आकार देना होगा। अपनी आकांक्षा को अपने सपने को एक पृष्ठ पर शब्दबद्ध कीजिए।यह मानव इतिहास का एक बहुत महत्वपूर्ण पृष्ठ हो सकता है। राष्ट्र के इतिहास में एक नया पृष्ठ जोड़ने के लिए आपकों याद रखा जाएगा। भले वह पृष्ठ ज्ञान-विज्ञान का हो, परिवर्तन का या खोज का हो, या फिर अन्याय के विरुद्ध संघर्ष का।” ये शब्द है भारत के राष्ट्रपति ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के, अदम्य साहस से उदूघृत, सीधे दिल की गहराई से निकले सादा, शब्द, गहन चिंतन को छाप छोड़ते और बुनियादी मुद्दों के बारे में उनके गहरे विचारों की झलक देते। लगभग जादुई असर वाले ये शब्द प्रेरणा जगाते हैं, और एक ऐसे विकसित देश का सपना संजोते है जो ‘सारे जहाँ से अच्छा’ है। मानवीय, राष्ट्रीय और वैश्विक सरोकारों से चिरयुवा, स्वभाव वाले, डॉ. कलाम के ये शब्द कर्मपथ पर आगे बढ़ने की प्रेरणा जगाते है और ऊर्जा देते है।

Additional information

Author

X