Anant Chetna ki Khoj Mein

अपनी सीमाओं से आज़ाद होकर अपनी हदों से ऊपर उठने पर कैसा महसूस होगा? इस तरह की भीतर शांति और आज़ादी पाने के लिए आप हर रोज़ क्या कर सकते हैं? यह पुस्तक इन प्रश्नों का सरल और सहज उत्तर देती है I अंदरूनी शांति पाने का चाहे आपका यह पहला प्रयास हो या आपने इस अंतर्मुखी यात्रा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया हो, यह पुस्तक स्वयं के तथा आस-पास के संसार के साथ आपके संबंध को बदल देगी I यह पुस्तक शुरुआत में, विचारों व भावनाओँ के साथ आपके संबंध से परिचय करवाती है और आपको भीतरी ऊर्जा के स्रोत तथा उतार – चढ़ाव को जानने में मदद करती है I यह बताती है कि आप चेतना को बाँधने वाले विचारों, भावों और नकारात्मक ऊर्जा से खुद को आज़ाद करने के लिए क्या कर सकते हैं I अंत में, यह स्पष्ट रूप से आंतरिक स्वतंत्रता के साथ जीवन जीने के द्वार खोलती है|

Description


अपनी सीमाओं से आज़ाद होकर अपनी हदों से ऊपर उठने पर कैसा महसूस होगा? इस तरह की भीतर शांति और आज़ादी पाने के लिए आप हर रोज़ क्या कर सकते हैं? यह पुस्तक इन प्रश्नों का सरल और सहज उत्तर देती है I अंदरूनी शांति पाने का चाहे आपका यह पहला प्रयास हो या आपने इस अंतर्मुखी यात्रा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया हो, यह पुस्तक स्वयं के तथा आस-पास के संसार के साथ आपके संबंध को बदल देगी I यह पुस्तक शुरुआत में, विचारों व भावनाओँ के साथ आपके संबंध से परिचय करवाती है और आपको भीतरी ऊर्जा के स्रोत तथा उतार – चढ़ाव को जानने में मदद करती है I यह बताती है कि आप चेतना को बाँधने वाले विचारों, भावों और नकारात्मक ऊर्जा से खुद को आज़ाद करने के लिए क्या कर सकते हैं I अंत में, यह स्पष्ट रूप से आंतरिक स्वतंत्रता के साथ जीवन जीने के द्वार खोलती है|

Additional information

Author

Author 2

X