Inner Engineering/इनर इंजीनियरिंग : आनंदमय जीवन के सूत्र

इनर इंजीनियरिंग युगद्रष्टा एवं योगी सद्गुरु के अंतर्ज्ञान और उपदेशों से परिपूर्ण एक रोचक पुस्तक है। यह व्यक्ति की आंतरिक बुद्धिमत्ता को जगाने का बेहतरीन साधन है। इसमें जीवन और जगत का वह परम ज्ञान प्रस्तुत किया गया है, जिसमें ब्रह्मांड की प्रज्ञा प्रतिबिंबित होती है। अपनी इस पुस्तक में सद्गुरु योग और अध्यात्म के अपने अनुभवों का निचोड़ प्रस्तुत करते हुए आत्म-नवनिर्माण यानी इनर इंजीनियरिंग की अवधारणा स्पष्ट करते हैं|

Category:

Description

Review

Inner Engineering is a fascinating read of Sadhguru’s insights and his teachings. If you are ready, it is a tool to help awaken your own inner intelligence, the ultimate and supreme genius that mirrors the wisdom of the cosmos. (Deepak Chopra)

I am inspired by Sadhguru’s capacity for joy, his exuberance for life, and the depth and breadth of his curiosity and knowledge. His book is filled with moments of wonder, awe, and intellectual challenge. I highly recommend it for anyone interested in self-transformation. (Mark Hyman, M.D., Director, Cleveland Clinic Center for Functional Medicine, and New York Times bestelling author)

By any measure, Sadhguru is a remarkable man. For countless people around the world, he is a luminous spiritual guide. He is as well a pragmatic social activist and compassionate campaigner for human rights, for universal education, and for global peace and well-being. In this signature book, he sets out the personal experiences and deep insights that have transformed his own life and consciousness. More than that, he offers a practiced program for personal transformation that also draws from the venerable teachings of the yogic masters who continue to inspire him. Throughout the ages there have been no more insistent questions than ‘Who are we?’ and ‘What is our purpose in living at all?’ Contrarian and consistent, ancient and contemporary, Inner Engineering is a loving invitation to live our best lives and a profound reassurance of why and how we can. (Sir Ken Robinson, author of The Element, Finding Your Element, and Out of Our Minds: Learning to Be Creative)

Sadhguru’s words are a reminder of where I need to focus my energy to live my life to its fullest potential. I invite you to read Inner Engineering, A Yogi’s Guide to Joy. Perhaps it will spark something within you too. (Gay Kenney Browne Huffington Post)

About the Author

योगी, रहस्यवादी और युगद्रष्टा सद्गुरु एक अलग तरह के आध्यात्मिक गुरु हैं। बोध कि पूर्ण स्पष्टता उन्हें आध्यात्मिक संदर्भों में ही नहीं, बल्कि व्यावसायिक, पर्यावरण और अंतरराष्ट्रीय मामलों में भी एक विशिष्ट स्थान प्रदान करती है। उनकी विदेशी मामलों की गहरी समझ और मानव-कल्याण के प्रति नितांत वैज्ञानिक दृष्टिकोण का वर्ल्ड बैंक, हाउस ऑफ लॉर्ड्स (यूके), वर्ल्ड प्रेजिडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन, मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, लंडन बिजनेस स्कूल, गूगल और माइक्रोसॉफ्ट जैसी संस्थाओं पर रूपांतरकारी प्रभाव रहा है। सद्गुरु पिछले तीन दशकों से व्यक्ति और विश्व की भलाई के प्रति समर्पित एक नॉन-प्रॉफिट संगठन ईशा फाउंडेशन के संस्थापक भी हैं|

इनर इंजीनियरिंग युगद्रष्टा एवं योगी सद्गुरु के अंतर्ज्ञान और उपदेशों से परिपूर्ण एक रोचक पुस्तक है। यह व्यक्ति की आंतरिक बुद्धिमत्ता को जगाने का बेहतरीन साधन है। इसमें जीवन और जगत का वह परम ज्ञान प्रस्तुत किया गया है, जिसमें ब्रह्मांड की प्रज्ञा प्रतिबिंबित होती है। अपनी इस पुस्तक में सद्गुरु योग और अध्यात्म के अपने अनुभवों का निचोड़ प्रस्तुत करते हुए आत्म-नवनिर्माण यानी इनर इंजीनियरिंग की अवधारणा स्पष्ट करते हैं|

Additional information

Author

X