Lokpriya Shayar Aur Unki Shayari: Sahir Ludhianavi (Hindi)

Amazon.in Price: 103.95 (as of 21/01/2020 03:34 PST- Details)

साहिर ने जब लिखना शुरू किया तब इक़बाल, जोश, फैज़, फ़िराक़, वगैरह शायरों की तूती बोलती थी, पर उन्होंने अपना जो विशेष लहज़ा और रूख अपनाया, उससे न सिर्फ उन्होंने अपनी अलग जगह बना ली बल्कि वे भी शायरी की दुनियाpar छ गये। प्रेम के दुःख-दर्द के अलावा समाज की विषमताओं के प्रति जो आक्रोश हमें unki शायरी में मिलता है, वह उन्होंने अपना विशिष्ट स्थान दिलाता है।

Category:

Description

साहिर ने जब लिखना शुरू किया तब इक़बाल, जोश, फैज़, फ़िराक़, वगैरह शायरों की तूती बोलती थी, पर उन्होंने अपना जो विशेष लहज़ा और रूख अपनाया, उससे न सिर्फ उन्होंने अपनी अलग जगह बना ली बल्कि वे भी शायरी की दुनियाpar छ गये। प्रेम के दुःख-दर्द के अलावा समाज की विषमताओं के प्रति जो आक्रोश हमें unki शायरी में मिलता है, वह उन्होंने अपना विशिष्ट स्थान दिलाता है।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Lokpriya Shayar Aur Unki Shayari: Sahir Ludhianavi (Hindi)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X